फोन में इस फीचर के लिए कंपनियां बढ़ा सकती हैं 30% कीमत

2017-07-10 10:46:02

डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकॉम (DoT) ने जनवरी 2018 से सभी मोबाइल फोन में GPS लगाना अनिवार्य कर दिया है, जिससे फोन को ट्रैक करने में आसानी होगी. इस फीचर को जोड़ने की बात पर कंपनियों ने हैंडसेट की कीमत में 30%  तक करने की बात की, जिसे DoT ने खारिज कर दिया.

फोन बनाने वाली इंडस्ट्री से बात के दौरान सरकार ने कहा कि महिलाओं की सेफ्टी और सिक्योरिटी सबसे ज़रूरी है. साथ ही, सरकार ने यह भी कहा है कि अब इस मामले में इंडस्ट्री की किसी भी मांग पर विचार नहीं किया जाएगा.

फीचर फोन में GPS सर्विस को लेकर में DoT का कहना है कि इमर्जेंसी में यूज़र का पता लगाने के लिए GPS बहुत ज़रूरी टूल है. और यही वजह है कि सरकार ने 1 जनवरी 2018 से सभी मोबाइल फोन में इसे लागू करने का फैसला किया है. बता दें कि ये इंडियन सेल्युलर असोसिएशन को 4 जुलाई को एक लेटर के ज़रिए कही गई थी.

सरकार ने 1 जनवरी 2017 और 1 जनवरी 2018 से सभी फोन में पैनिक बटन और GPS लोकेशन की सुविधा मुहैया कराने को कहा था, जिसका मकसद मुश्किल हालात में महिलाओं और बाकी लोगों की सेफ्टी और सिक्योरिटी देना है. इस साल मार्च से सभी हैंडसेट कंपनियों ने पैनिक बटन वाले नियम का पालन किया है.

एक्सपर्ट का कहना है कि फीचर फोन की कीमत 500 रुपए से 1,500 रुपए की बीच होती है. हैंडसेट बनाने वाली कंपनियों ने सरकार से हर फीचर फोन में लोकेशन सर्विस शुरू करने की मांग की है, जिसकी वजह से कीमत में 400 रुपए की वृद्धि होगी. अगर हैंडसेट मेकर इस कीमत को पास कर देते हैं तो कंज्यूमर्स को फोन के लिए 30%  एक्सट्रा देना पड़ सकता है.











hindi.news18.com

Top 9 Highlights

राजनीति

Subscribe us

खानाखजाना

शिक्षा