जिला अस्पताल में चूहों और कुत्तों का आतंक, नवजात की दो ऊंगलियां काटी चूहें ने

2017-05-18 11:29:28

ग्वालियर.शिवपुरी के जिला अस्पताल में 15 मई की रात जन्मी एक नवजात बच्ची की दो ऊंगलियां चूहे ने काटकर घायल कर दिया,बेड नहीं मिला तो नवजात को मां के साथ जमीन पर ही सुलाया गया था रात को नवजात चीख चीख कर रो पड़ी मां ने जब बच्ची को देखा, तो उसकी दो ऊंगलियों से खून बह रहा था। इस पर वार्ड में चीख पुकार मच गयी। 
यह है पूरा मामला 
शिवपुरी के कोलारस के पास कुम्हरौआ गांव के दिलीप ने पत्नी सुनीता को डिलीवरी के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया था। सुनीता ने बेटी को जन्म दिया था। डिलीवरी के बाद बेड की कमी से सुनीता को उसकी नवजात के साथ वार्ड में जमीन पर सोना पड़ा था। जब रात सुनीता की नींद बच्ची की चीख से खुल गई उसने बच्ची की ओर देखा, उसकी उंगली से खून बह रहा था उसी समय बच्ची के पास से बहुत बड़ा चूहा भागता नजर आया। सुनीता समझ गई कि चूहे ने उसकी बेटी की उंगली काटकर घायल कर दी हैं। बाद में अस्पताल स्टाफ से कह कर बच्ची का इलाज कराया। दूसरे दिन सुनीता को बेड दे दिया गया।
रख रखाव और सुरक्षा पर लाखों रूपये खर्च फिर भी कुत्ते और चूहे है अस्पताल में 
शिवपुरी के डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल को बीते साल प्रदेश में नंबर.1 और इस बार नंबर.2 का आंका गया है,  मेंटीनेंस और सिक्योरिटी के लिए लाखों का फंड दिया गया है। इसके बावजूद हॉस्पिटल कैंपस में आवारा कुत्ते घूमते रहते हैं। सुनीता की नवजात बिटिया की उंगली चूहे ने काटी,  उससे कुछ साल पहले एक नवजात के शव को कुत्तों ने नोच काया था। इसी हॉस्पिटल में बीते सोमवार को ही बडागांव की महिला इंदिरा देवी को एडमिट होने के बाद 12 घंटे तक इलाज ही नहीं मिला और उसकी मौत हो गई। संवेदनहीन डॉक्टर्स ने उसकी बॉडी को परिजन के आने से पहले ही जबरिया एक ऑटोरिक्शा पर बैटा कर सास और 5 साल की बेटी के साथ हॉस्पिटल से खदेड़ दिया था। प्रदेश के इसी नंबर.1 डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में बीती 20 जनवरी से ताला डला हुआ है। यहां के 4 डॉक्टर्स वीआरएस लेकर चले गए उसके बाद से स्थाई डॉक्टर यहां नहीं आए। गौरतलब है कि इस जिले का प्रभार प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री रुस्तम सिहं गुर्जर के पास है।





newsmailtoday.com

Top 9 Highlights

राजनीति

Subscribe us

खानाखजाना

शिक्षा