शानदार रहा ले‌डी स‌िंघम का सफर, कभी सख्त तो कभी पीड़ित के ल‌िए रोईं तक मंजिल सैनी

2017-04-27 16:08:20

लखनऊ में पहली महिला एसएसपी के तौर पर ज्वाइन करने वाली मंजिल सैनी का ट्रांसफर हो चुका है और उनकी जगह ली है दीपक कुमार ने। नजर डालते हैं उनके सफर पर...

आईपीएस मंजिल सैनी ने 18 मई 2016 को राजधानी के एसएसपी की कुर्सी संभालते ही राजनीतिक दबाव और नेताओं की दखलंदाजी के सवाल पर कहा था, ‘मैं इटावा से आई हूं।’ उनके इन शब्दों के मायने समय-समय पर सामने आते भी रहे।

उन्होंने 11 महीने आठ दिन के अपने कार्यकाल में रिकॉर्ड तोड़ निलंबन और बर्खास्तगी की कार्रवाई की।  उनकी सख्त छवि के लिए लोगों ने लेडी सिंघम नाम दिया गया लेकिन यह उनके व्यक्तित्व का एक पहलू भर था।

राजधानी में उनकी पहचान संवेदनशील, मातहतों पर भरोसा करने वाली, जोशीले और उत्साही पुलिसकर्मियों को मौके देने वाली अधिकारी के रूप में ज्यादा नजर आई।

मंजिल सैनी राजधानी की पहली महिला एसएसपी थीं। हालांकि, उनके लिए माहौल कभी अनुकूल नहीं था। उन्हें सपा की सरकार, पुरुषवादी मानसिकता और एक महिला पुलिस अधिकारी की छवि से परे खुद को साबित करना था। ...और यह काम उन्होंने बखूबी किया भी।

amarujala

Top 9 Highlights

राजनीति

Subscribe us

खानाखजाना

शिक्षा