धोनी ने कहा- मैदान पर विराट को सलाहदेता रहूंगा

2017-01-14 09:21:35

पुणे। टीम इंडिया की सीमित ओवर की कप्तानी छोड़ने के बाद पहली बार मीडिया से रू-ब-रू हुए महेंद्र सिंह धोनी ने शुक्रवार को कहा कि वह टीम के नवनियुक्त कैप्टन विराट कोहली को समय-समय पर जरूरी सलाहें देते रहेंगे। इस मौके पर इस पूर्व कप्तान ने विराट कोहली की जमकर तारीफ भी की और कहा कि यह विराट के कप्तान बनने का सही समय था। जब पत्रकारों ने धोनी से उनकी कप्तानी पर पूछा कि वह कैसे अपनी कप्तानी को आंकते हैं, तो टीम इंडिया के इस कूल पूर्व कैप्टन ने कहा कि उनकी कप्तानी एक सफर की तरह रही। धोनी ने कहा, 'कप्तानी करते हुए मेरी जिंदगी में खुशी के मौके भी आए और मुश्किल वक्त भी आया। कुल मिलाकर यह एक सफर जैसा था।' इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में धोनी पत्रकारों से क्रिकेट के जुड़े हर मुद्दे पर बात की और हमेशा की तरह बेबाक बोलने वोले धोनी ने अपने उसी अंदाज में पत्रकारों के सवालों का जवाब दिया। किसी चीज के पछतावे के सवाल पर धोनी ने कहा कि वह जिंदगी में किसी चीज का पछतावा नहीं करते, जब आप कुछ चीजों से नहीं डरते, तो यह रवैया आपको मजबूत बनाता है।
धोनी ने कहा कि भले ही इस बात को माना जाए या नहीं, लेकिन एक विकेटकीपर हमेशा टीम में वाइस कैप्टन की तरह होता है। वह खेल पर अपनी सलाह अपने कैप्टन को देता है। मैं भी इसी तरह विराट को हर उपयोगी सलाएं देता रहूंगा। धोनी से जब पूछा गया कि वह अब अपनी पहली वाली भूमिका में लौट रहे हैं, तो क्या वह पहले की तरह अपने बाल भी लंबे करेंगे, तो उनका जवाब था, 'अब बाल लंबे नहीं करूंगा।' इसके अलावा अपने बैटिंग ऑर्डर के सवाल पर माही ने कहा, 'मैं टीम की जरूरत के हिसाब से अपना बैटिंग ऑर्डर चेंज करूंगा।' जब उनसे वनडे कप्तानी में चुनौतियों के बारे में पूछा गया, तो भारत के इस सबसे सफल कप्तान ने कहा, 'टेस्ट की अपेक्षा वनडे में कप्तानी करना आसान रहता है। भले ही यहां आपको जल्दी-जल्दी निर्णय लेने होते हैं, फिर भी यह टेस्ट की कप्तानी की अपेक्षा आसान है। कोहली पहले से टेस्ट मैचों में कप्तानी कर रहे हैं, तो इस नई जिम्मेदारी से उन पर कोई खास दबाव नहीं होगा।' धोनी ने क्रिकेट को शारीरिक खेल के साथ-साथ दिमागी खेल भी बताया उन्होंने कहा कि खिलाड़ी हर वक्त एक ही माइंडसेट में नहीं होता। इसलिए उसके सामने चैलेंज आते रहते हैं।

Top 9 Highlights

राजनीति

Subscribe us

खानाखजाना

शिक्षा