श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर भी GST का असर, 55 हजार की बनेगी पोशाक

2017-08-12 18:45:43

ग्वालियर। भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव के रूप में मनाई जाने वाली श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर भी इस बार जीएसटी का असर देखने को मिल रहा है। सबसे बड़ा असर तो भगवान श्रीकृष्ण की पोशाक पर दिख रहा है।

शहर में 20 रुपए से लेकर 2 हजार रुपए तक की पोशाक मिल रही है, जबकि इससे अधिक कीमत की पोशाक लोग मथुरा से बनवा रहे हैं। 2 हजार रुपए से अधिक कीमत की अधिकांश पोशाक मंदिरों के लिए बनवाई जा रही है।

पिछली साल श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर जो पोशाक 5 हजार रुपए में बन गई थी, उसी कपड़े और अन्य मटेरियल में बनी पोशाक के लिए 8 हजार रुपए तक चुकाने पड़ रहे हैं।

इसका कारण कपड़े और पोशाक बनाने वाली सामग्री पर जीएसटी लगना है। थाटीपुर स्थित मंदिर में भगवान श्री द्वारिकाधीश की पोशाक इस बार 55 हजार रुपए में तैयार हुई है। यह पोशाक पिछली बार 35 हजार रुपए में तैयार हो गई थी, जो इस बार 55 हजार रुपए में बनी है। यानि शहर में सबसे महंगी पोशाक भगवान श्री द्वारिकाधीश धारण करेंगे।

ऐसा बताया जा रहा है कि यह पोशाक जयपुर के भगवान श्री गोविंददेवजी की पोशाक के तर्ज पर तैयार करवाई गई है, जिसमें गोटापत्ती के वर्क को लगाया गया है। यह पोशाक वृंदावन से तैयार करवाई गई है। वृंदावन से ही भगवान का मुकुट तैयार करवाया गया है।

छोटी पोशाकों पर भी असर

भगवान की पोशाक बनाने में कपड़ा अगर 1000 रुपए तक लगता है तो उस पर 5 प्रतिशत और 1000 रुपए कीमत से अधिक का कपड़ा लगता है तो 12 प्रतिशत जीएसटी लगता है।

वहीं पोशाक बनाने में कपड़े के अलावा लगने वाली अन्य सामग्री पर अलग-अलग दर से जीएसटी लगता है, जिसके चलते सभी पोशाक महंगी हो गई हैं। इसी तरह भगवान की प्रतिमाएं भी महंगी हो गई हैं, क्योंकि इन पर भी जीएसटी लगा है।

पोशाक व प्रतिमाएं महंगी होने के बाद भी भगवान श्रीकृष्ण जन्मोत्सव का उत्साह लोगों में अभी से दिखने लगा है। शहर में स्थित पोशाक और पूजन सामग्री बेचने वाले दुकानदारों पर भीड़ दिखने लगी है। इससे साफ है कि इस बार भी श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर इन लोगों का व्यापार अच्छा रहेगा।

मथुरा से आती हैं पोशाक

शहर के हर प्रमुख मंदिर में भगवान के लिए पोशाक श्रीकृष्ण जन्माष्टमी, दीपावली, होली, गुरु पूर्णिमा, श्री गणेशोत्सव, श्री रामनवमी सहित अन्य प्रमुख अवसरों पर मथुरा से पोशाक तैयार करवाई जाती हैं। साथ ही शहर में जो दुकानदार पोशाक बेचते हैं, वह भी मथुरा, वृंदावन और नाथद्वारा से पोशाक लेकर आते हैं। पोशाक शहर में तैयार नहीं हो पाती।

- सनातन धर्म मंदिर मंडल में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी उत्सव सबसे अधिक धूमधाम से मनाया जाता है। यह पोशाक मथुरा से तैयार करवाई गई है। साथ ही यहीं स्थित भगवान श्री राम-सीता, भगवान विष्णु-लक्ष्मी, भगवान गिर्राज जी, भगवान श्री गणेश की पोशाक भी मथुरा से ही तैयार करवाई गई है। पिछले साल यह पोशाक लगभग 20 हजार रुपए में तैयार हुई थी, जिस पर इस बार लगभग 30 हजार रुपए खर्च होंगे।

- श्रीराम मंदिर में भगवान को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर जो पोशक धारण करवाई जाएगी वह भी मथुरा से तैयार करवाई गई है। यह पोशाक एक भक्त द्वारा भेंट की गई है। पोशाक की कीमत लगभग 15 हजार रुपए है।








jagran.com

Top 9 Highlights

राजनीति

Subscribe us

खानाखजाना

शिक्षा